Story

Top 10+ Horror Stories in Hindi | भूतों की कहानियां

Horror Stories in Hindi प्रत्येक शैली में, हिंदी में हॉरर कहानियां अनेक पाठकों का आकर्षण करती हैं। भूतों की कहानियां (Bhoot ki Kahani) या भूतनी की कहानियां (Bhootni ki Kahani) एक ऐसी रूपरेखा में प्रस्तुत होती हैं जिसमें कहानी के कथासूत्र, पात्र, और घटनाएं इस तरह से विवरणित होती हैं कि पाठक उसे पढ़कर घबरा जाए या यह कह सकते हैं कि पाठक ख़ौफज़दा हो जाएं। ये डरावनी कहानियां, जैसे कि चुड़ैल की कहानियां (Chudail ki Kahani), डर के साथ-साथ एक रोमांचक अनुभव भी प्रदान करती हैं।

1. भूत की कहानियाँ :Horror Stories in Hindi

कहानी एक छोटे से गाँव की है, जहाँ लोग रात के समय एक विशेष घर के पास से अजीब-अजीब आवाजें सुनते थे। लोग इसे भूत की कहानी मानते थे, लेकिन कोई भी वास्तविकता में नहीं जानता था।

गाँव का एक युवक, राजू, ने निर्विवाद रूप से इस रहस्यमयी घर की तलाश करने का निर्णय लिया। एक रात, वह अपने दोस्त सुरेश के साथ उस रहस्यमयी घर की ओर बढ़ा।

घर के पास पहुंचते ही राजू ने धीरे से कहा, “सुरेश, यहाँ कुछ अजीब है। हमें जानना चाहिए कि ये भूत की कहानी सच है या नहीं।”

दोनों ने अपनी रूचि से सौंदर्य बढ़ाते हुए रात के अंधेरे में घर की ओर बढ़ते हुए अपनी बातचीत की। घर की छत पर बैठे एक आदमी ने उनको देखा और मुस्कराते हुए कहा, “तुम लोग क्या ढूंढ़ रहे हो?”

राजू ने कहा, “हम जानना चाहते हैं कि यहाँ कुछ अजीब हो रहा है या नहीं। क्या यहाँ वाकई भूत रहता है?”

आदमी हंसते हुए उत्तर दिया, “भूत? नहीं, यहाँ कोई भूत नहीं है। मैं यहाँ एक महिला के साथ रहता हूँ और हम यहाँ शांति से जी रहे हैं।”

राजू और सुरेश ने हैरान होकर पूछा, “लेकिन लोग तुम्हें यहाँ भूत कहते हैं।”

आदमी हंसते हुए जवाब दिया, “हां, वे लोग हमें अजीब बुनियादी बातें कहते हैं, लेकिन इसमें कोई सत्य नहीं है। हम यहाँ शांति से रहते हैं और किसी को तंग नहीं करते।”

राजू और सुरेश ने उस आदमी से मिलकर बातचीत की और उन्हें समझाया कि वे लोग किसी को तंग नहीं करते बल्कि उनका यहाँ रहना एक शांतिपूर्ण और सामंजस्यपूर्ण जीवन है। राजू और सुरेश ने उस आदमी से दोस्ती की और उसके साथ हंसी-मजाक में वक्त बिताया।

Horror Stories in Hindi

इसके बाद से, गाँववाले भूत की कहानी में यह नया दृष्टिकोण लाए और उन्होंने उस आदमी और महिला के साथ अच्छे संबंध बनाए। यह कहानी बताती है कि कभी-कभी हमें विश्वास करने से पहले और लोगों को अच्छे से जानने का प्रयास करना चाहिए, क्योंकि सत्य हमेशा अनछुपा होता है।

Suggestions Article
Short Motivational Story
Hindi Short Stories in Hindi
Best Hindi Short Stories in Hindi
Short Moral Stories in Hindi
Love Story in Hindi

2. भूतों का शहर : Real horror stories in hindi language

यह कहानी एक छोटे से गाँव के एक युवक, राज, के बारे में है जो अपने दादा-दादी के साथ रहता था। गाँव में हमेशा कुछ अजीब सी बातें होती रहती थीं और लोग कहते थे कि गाँव के पास एक भूतों का शहर है। राज, भले ही बहुत ही नौसिखिया और बहादुर था, लेकिन भूतों की कहानियों से डरता था।

Horror Stories in Hindi

एक दिन, राज ने अपने दोस्त सुनील के साथ गाँव के पास भूतों के शहर की खोज में निकला। वे रात के समय में गाँव के पास पहुंचे और देखा कि सभी घरों के बाहर रात के अंधेरे में ज्यादातर लोग चलते रहते थे।

राज और सुनील ने एक बड़े से बंगले की ओर बढ़ते हुए देखा कि वहां एक बड़ा मेला चल रहा था। मेले में भूतों के साथ-साथ जिन्न और चुड़ैलें भी थीं। लोग खुशी-खुशी मेले में भाग ले रहे थे और भूतों की दुनिया में एक अलग ही रंग-बिरंगी दुनिया थी।

सुनील को भूतों ने देखा और एक दुल्हन का अर्थात एक भूतनी ने राज से कहा, “तुम डरने की कोई जरूरत नहीं है। हम यहाँ खुशी-खुशी रहते हैं और तुम्हें कोई तकलीफ नहीं होगी।”

राज ने भूतनी से मिलकर बातचीत की और उसने समझा कि यह सब केवल किसी खास मौके पर गाँववालों को मज़ा करने के लिए किया जाता है। इसके बाद राज और सुनील ने मेले में शामिल होकर भूतों के साथ खेले और हंसी-मजाक में वक्त बिताया।

दिन भर के बाद, राज और सुनील ने भूतों के शहर का नक्शा बनाया और गाँव वापस लौटे। गाँववालों को बताया गया कि भूतों का शहर एक मज़ेदार और खुशी-खुशी जगह है और उन्हें डरने की जरूरत नहीं है।

इसके बाद से, गाँववाले भूतों के साथ दोस्ती करने लगे और हर साल वहां मेला आयोजित किया जाता था जिसमें सभी एक साथ मिलकर मस्ती करते थे। राज ने यह सिखा कि किसी चीज़ से डरने से पहले, हमें उसे अच्छे से समझना चाहिए। डर वास्तव में कभी-कभी हमारी अनजानी में ही होता है, और जब हम उससे निपट लेते हैं, तो हम अच्छे दोस्त बना सकते हैं।

Suggestions Article
Short Motivational Story in Hindi Language
Very Short Story in Hindi 
Story in Hindi Small
Moral Kahani in Hindi
Short Story With Moral in Hindi

3. कब्रिस्तान की रात : Real Horror Stories in Hindi

रात का समय था, कब्रिस्तान अपनी चुप्पी से गुम हो रहा था। चाँदनी की किरणें कब्रों की चट्टानों पर मुस्कान बिखेर रही थीं। एक अजीब सी ऊँचाई से बनी एक कब्र अद्वितीय रूप से खड़ी थी, जिसकी ऊपरी सत्री कुछ अजीब से चिन्हों से सजीव थी।

real horror stories in hindi

वहाँ का सारा माहौल अब जादू से भरा हुआ था। अचानक, एक विशेष समय पर इस कब्र से एक पुरानी कहानी की आवाज सुनाई दी। कहानी का राज यह था कि जब यह कब्र बनाई गई थी, तब उसे एक प्राचीन राजा की आत्मा ने आवास दिया था। राजा का प्रेम और विशेष कला के क्षेत्र में उनकी महानता के कारण, उसकी आत्मा इस कब्र में सजीव रह गई थी।

इस कब्र से जुड़ी अनगिनत कहानियां और रहस्य यही कह रही थीं कि राजा की आत्मा अब तक यहाँ है, और वह रात के समय में ही अपनी कहानियां सुनाता है। लोगों की मानें तो, उसकी आत्मा को सुनकर उनके दिल में एक अजीब सी चुनौती पैदा हो जाती थी।

एक रात, गाँव का एक युवक, राजा की आत्मा से मिलने का निर्णय करता है। उसने सुना था कि अगर कोई व्यक्ति रात के समय में उस कब्र के पास जाता है तो राजा की आत्मा से मिल सकता है और वह उसे कुछ अद्भूत रहस्य बता सकता है।

युवक ने वहाँ पहुंचकर देखा कि कब्र चमकती रात में अध्यात्मिक रूप से। वह धीरे-धीरे कब्र की ओर बढ़ता है, और वहां पहुंचकर वह बैठ जाता है। कुछ ही क्षणों में, राजा की आत्मा उससे मिलती है और कहती है, “तू मेरे पास क्यों आया है?”

युवक ने अपनी इच्छा बताई कि वह राजा की आत्मा से कुछ अद्भूत रहस्य सीखना चाहता है। राजा की आत्मा मुस्कराई और कहा, “तूने सही समय पर सही जगह आने का निर्णय किया है, युवक। मैं तुझे कुछ रहस्यमय बातें बताऊंगा, पर उनका पालन करना होगा।”

Horror Stories in Hindi

राजा की आत्मा ने युवक को अद्भुत जगहों की ओर ले जाया और वह विभिन्न अद्भूत रहस्यों का सामना करता है। युवक को यह अनुभव होता है कि कब्रिस्तान रात के समय में ही अपनी असली सौंदर्य और रहस्यों को प्रकट करता है।

दिनभर की भीड़भाड़ में लोग कब्रिस्तान को एक साधारित स्थान मानते हैं, लेकिन रात को यहां एक अलगी दुनिया उभरती है। राजा की आत्मा ने युवक को अज्ञात सत्रीयों के बीच ले जाकर उनके साथ मिलकर खेलने का आनंद लेने का अनुमति दी, और यह दृश्य युवक के लिए अद्वितीय रहा।

रात बीतती जा रही थी, और युवक ने एक नए दृष्टिकोण से जीवन को देखना सीख लिया था। राजा की आत्मा ने कहा, “यह जगह सिर्फ भूत-प्रेतों की नहीं, बल्कि जीवित लोगों के लिए भी है। यहां आकर लोग अपने आत्मा के साथ मिलकर जीवन की सच्चाई को समझ सकते हैं।”

युवक ने राजा की आत्मा से शिक्षा प्राप्त करके अपने गाँव में वापस गया और लोगों को यह सिखाया कि कब्रिस्तान एक अद्वितीय स्थान है जो हमें जीवन की महत्वपूर्ण सिख सिखाता है। इसके बाद से, लोग रात के समय में कब्रिस्तान जाने का साहस करने लगे और वहां से नए ज्ञान और अनुभव प्राप्त करने लगे।

इस रूप में, उस चुप्पी वाले कब्रिस्तान ने एक नये रूप में जीवन को स्वीकार करने की राह दिखाई, और लोगों को जीवन के सच्चे मायने समझाने का एक नया दृष्टिकोण प्रदान किया।

Suggestions Article
Sad Story In Hindi
Stories In Hindi Love
Sad Stories in Hindi Language
Horror Stories in Hindi
Short Stories in Hindi Language With Moral
Hindi Love Story Hindi Love Story

4. भूतिया खिलौने की की ख़यानक कहानी

किसी छोटे से गाँव में एक बुजुर्ग खिलौना बनाने के लिए मशहूर थे। उनके हाथों से बनी हर चीज़ किसी जादू से कम नहीं थी, और गाँववाले हर बार उनके पास जाते थे जब उन्हें किसी अद्भुत खिलौने की आवश्यकता होती थी।

बुजुर्ग की कहानियाँ गाँव में प्रसिद्ध थीं, और बच्चे-बच्चे उनकी कहानियों में खो जाते थे। एक दिन, गाँव के एक छोटे से लड़के नामक राजू ने बुजुर्ग से एक अद्वितीय खिलौने की मांग की।

बुजुर्ग ने मुस्कराते हुए कहा, “राजू, मैं तुम्हें एक बहुत खास खिलौना बना सकता हूँ, लेकिन तुम्हें यह खिलौना सिर्फ रात को ही दिखेगा।” राजू की रोमांचक आंखों में एक चमक सी छलक गई।

अगले कुछ दिनों में, बुजुर्ग ने एक छोटे से लकड़ी के टुकड़े से एक प्यारा सा खिलौना बनाया। रात के समय, खिलौना बहुत ही भूतपूर्व रूप में चमकता था, और एक सुरीली म्यूजिक की ध्वनि से गूंथा हुआ था। यह खिलौना वास्तविक जीवन में अद्वितीय और रहस्यमय दिखता था।

Horror Stories in Hindi

राजू ने खिलौने को देखकर हैरानी में डाल दी और बुजुर्ग से पूछा, “यह खिलौना रात को क्यों दिखता है और इसमें यह सुरीली ध्वनि कहाँ से आती है?” बुजुर्ग ने मुस्कराते हुए उत्तर दिया, “राजू, यह खिलौना तुम्हारे सपनों की दुनिया में ले जाएगा।”

उसी रात, राजू ने खिलौना अपने सोने के समय के लिए उठा लिया। खिलौना जैसे ही उठा, उसमें वही सुरीली म्यूजिक और रौंगत आई जो रात को होती थी। राजू का दिल खुशी से भर गया, और उसने उस सुरीली म्यूजिक के साथ अपने सपनों की दुनिया में सफर करना शुरू किया।

खिलौना उसे एक पुरानी हवेली में ले गया, जहां राजू ने बड़े-बड़े बाग-बगिचों को घूमा, अद्भुत राजमहलों को देखा, और सुंदर समुद्र तटों पर यात्रा की। खिलौना ने राजू को उन सभी जगहों पर ले जाया, जहां उसने कभी भी जाना नहीं था।

एक दिन, राजू ने खिलौने के साथ एक जादूगर की राजमहल में पहुंचा। राजमहल में वह जादूगर उसे बहुत ही आश्चर्यजनक जादू दिखाने लगा। सबसे बड़ी चमत्कारी बात यह थी कि जादूगर ने खिलौने से कहा, “यह खिलौना तुम्हें किसी भी समय किसी भी स्थान पर ले जा सकता है।”

राजू ने खुशी से भरा हुआ हृदय के साथ खिलौना समझाया, “तुम मेरी पूरी जिंदगी को रौंगत और सुखद बना सकते हो?” जादूगर ने हंसते हुए कहा, “हाँ, राजू, लेकिन यह तुम्हारे मन की पथरीली दुनिया में होगा, जो तुम्हें सच्ची खुशी देगी।”

वह बौद्धिक और आत्मिक दृष्टि से समृद्धि की ओर बढ़ने का निर्णय कर राजू ने विश्वास किया कि खिलौना उसे वास्तविक खुशी दे सकता है। उसने खिलौने को सबसे सुंदर स्थान पर ले जाने का निर्णय किया और यहाँ भी उसे नई राहों, नए संभावनाओं और नए दोस्तों की प्राप्ति हुई।

राजू ने सच्ची खुशी का मतलब समझा और खिलौने की महत्वपूर्णता को समझा। वह अब खिलौने के साथ हर क्षण को आनंदित करता था, क्योंकि वह समझ गया था कि वास्तविक खुशी विभिन्न रूपों में मौजूद हो सकती है, और इसे हमें स्वीकार करना चाहिए।

Horror Stories in Hindi

राजू का खिलौना गाँववालों को भी प्रभावित कर गया, और उन्होंने समझा कि खुशी और सफलता एक आत्मिक स्थिति से आती हैं, न कि बाह्यिक वस्त्रों या वस्तुओं से। गाँव में एक नई आत्मा और सोच का उत्थान हुआ, जिसमें सभी लोग एक-दूसरे के साथ मिलकर खुशहाल जीवन बिता रहे थे।

इस तरह, वह बुजुर्ग के अद्वितीय खिलौने ने गाँव को सच्ची खुशी और समृद्धि का अहसास कराया, जिससे लोग अब ज्यादा समझदार और सतत स्वीकृति के साथ अपने जीवन को आनंदित कर रहे थे।

6. भुत की एक दिल दहलाने बाली डरावनी कहानी

गाँव के किनारे एक पुराने हवेली में एक बड़ी पुरानी कहानी बसी हुई थी। हवेली के आसपास की ज़मीन की खासियत थी कि रात को वहाँ कुछ अजीब ध्वनियां सुनी जाती थीं। गाँववाले भी विशेष रूप से रात को वहाँ नहीं जाते थे क्योंकि उन्होंने कहानियों में सुना था कि वहाँ रात को भूतों की भीड़ होती है।

गाँव का एक छोटा सा बच्चा नामक राजू बहुत ही निर्भीक था। उसने कभी नहीं माना कि भूतों का कोई अस्तित्व है, और वह रोज़ हवेली के पास से गुजरता था।

एक दिन, रात के समय राजू को अचानक एक रोने की आवाज सुनाई दी। वह दिल से घबराया और धीरे-धीरे हवेली की ओर बढ़ा। ध्वनि उसकी कानों में गूंथी गई और उसने देखा कि हवेली के बगीचे में एक छोटा सा बच्चा रो रहा था।

राजू ने उसके पास जाकर पूछा, “तुम क्यों रो रहे हो?” बच्चा गंभीर रूप से उत्तर दिया, “मुझे यहाँ आना नहीं चाहिए था, लेकिन मैं गाँव से बहुत दूर खो गया हूँ और अब मुझे रास्ता नहीं पता।”

राजू ने उस बच्चे को अपने साथ अपने घर ले जाने का निर्णय किया। वह बच्चा बहुत धन्यवादी था और उसने राजू के साथ गाँव वापस जाने का निर्णय किया।

गाँव में वापस आकर उस बच्चे का नाम जल्दी ही गाँववालों ने सुना था और उसको सभी बच्चों का दोस्त बना लिया। उसका आना गाँव में बहुत ही खुशियों का कारण बन गया था।

एक दिन, रात के समय जब सभी बच्चे खेल रहे थे, राजू ने सोचा कि उसे उस हवेली में ले जाना चाहिए जहाँ उसने वह बच्चा पहले बार देखा था। राजू ने अपने दोस्तों को साथ लेकर हवेली की ओर बढ़ते हुए कहा, “हमें देखना चाहिए कि कौन रो रहा है और क्यों?”

Horror Stories in Hindi

जब वे हवेली के पास पहुंचे, तो उन्होंने सुना कि वही बच्चा फिर से रो रहा था। राजू ने पूछा, “तुम फिर से क्यों रो रहे हो?” बच्चा ने ग़ुस्से में कहा, “यही तो वही जगह है जहाँ मैंने पहली बार खो गया था।”

वहाँ पर राजू ने एक पुरानी बेहद डरावनी कहानी सुनी कि वहाँ कभी बड़ा एक भूत रहता था जो रात के समय बच्चों को डरा देता था। बच्चा ने वही भूत दिखा दिया जो रो रहा था, और सबने देखा कि यह एक खूबसूरत बच्चा था जो कीचड़ में पड़ा हुआ था।

राजू ने उससे सोने की कहानी सुनने के लिए कहा, और बच्चा ने धीरे-धीरे सोने लगा। सभी बच्चे हैरान थे कि भूत की बजाय एक छोटा सा बच्चा कैसे वहाँ रो रहा था।

रात बीतती गई और सब ने मिलकर उस बच्चे को अपने घर वापस ले जाने का निर्णय किया। वह बच्चा बहुत ही खुश था कि उसके साथ नए दोस्त बने हुए थे और उसका दर्द भी कम हो गया था।

इसके बाद से, गाँववाले ने समझा कि भूतों की बजाय हमें अपने साथी की मदद करनी चाहिए। राजू ने सिखाया कि हमें दुनिया में अगर हमें किसी की मदद करनी है तो हमें उसके आवश्यकताओं को समझना चाहिए, और साथ में रहना चाहिए। उस दिन के बाद, गाँव में सभी लोगों के बीच में सजगता और सामंजस्य बढ़ गई, जिससे वह गाँव और भी सुखमय और समृद्धिशील हो गया।

Suggestions Article
Love Story in Hindi Sad
Love Story in Hindi Story
Love Story in Hindi
Very Short Story in Hindi
Story in Hindi